गुणवत्ता ग्राहको द्वारा परिभाषित होती है


सही शिक्षा की पहचान बालको के द्वारा ही की जा सकती है । बालको के द्वारा ही शिक्षा की गुणवत्ता को पहचाना जा सकती है । शिक्षको को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि वे बालको की न्यूनतम उम्मीदो को पूरा कर सके । बालको की हर छोटी बडी उम्मीदो को पूरा करना शिक्षक की जिम्मेदारी है । शिक्षको के पास बालको के हर प्रशन के उत्तर होने चाहिए । बालको की समस्याओ को शिक्षक को हल करना चहिए । शिक्षक बालको को विवधता प्रदान करे । बालको के लिए हर पल आनंददायक हो । शिक्षको को बालको को आनंद प्रदान करना चाहिए । बालको मे शिक्षा प्राप्त करने मे आनंद आए । बालको को शिक्षा प्रदान करने के लिए नए नए तरीको का प्रयोग करना चाहिए जिससे उनका ध्यान आकृषित हो ।उन्हे कुछ अलग प्रदान करे जिस्से बालको का ध्यान शिक्षा की ओर आकृषित हो सके ।
हमारी  सीख "आइसक्रीम  मेकर" by सुबीर  चौधरी 
शर्मिला विजयरागी  , भारती राव  , ऊषा पँवार  & कृर्तिका राव
The Fabindia School

No comments:

Blog Archive