स्वतन्त्रता

स्वतन्त्रता का अर्थ आजादी होता हैं, जो भारतीय लोगों  को संविधान के तहत प्राप्त है जिसमें कोई भी कार्य करने की स्वतन्त्रता होती है। व्यवसाय  करने की स्वतन्त्रता होती है कहीं पर आ जाने की स्वतन्त्रता होती है। अपने विचारों की स्वतन्त्रता होती है बिना रोक टोक के भाषण देने की स्वतन्त्रता मिली हुई है। लोगों को अपने घर के सम्पूर्ण कार्य करने की स्वतन्त्रता प्राप्त है जिसमें लोग बिना डर के अपना कार्य पूर्ण कर सकते हैं।  रोशनी जिस तरह आँखों के लिए हैं,हवा जिस तरह फेफडों के लिए हैं और प्यार जिस तरह दिल के लिए हैं उसी तरह आजादी इंसान की आत्मा के लिए हैं प्रयेक व्यक्ति के  पास स्थायी निधियाँ होती है |
1. आत्मसजगता
2. विवेक
3. स्वतन्त्र संकल्प
4 . रचनात्मकता ।

स्वतंत्रता कल्पना प्रदान करती है चुनने जबाब देने और  बदलने की शक्ति निहित होती है और दूसरों की आजादी का सम्मान करें और उसे उन्नत करें सुख का रहस्य स्वतन्त्रता है, स्वतन्त्रता का रहस्य साहस है मनुष्य उसी क्षण स्वतन्त्र हैं जिस क्षण वह होना चाहता है स्वतन्त्रता प्रत्येक व्यक्ति के लिये आवश्यक है। बिना स्वतंत्रता के मानव कुछ भी करने में सक्षम नहीं होगा। यदि खुशहाल एवं प्रगतिशील समाज की आवश्यकता है तो मानव स्वतंत्रता भी आवश्यक है।
जफ़र खान 
The Fabindia School, Bali 


No comments:

Blog Archive