तरूण मिश्रा : आदर करना

अधिकांशतः लोग सम्मान  बारे में सुनते हैं परन्तु इसका वास्तविक अर्थ नहीं समझ पाते। सम्मान किसी व्यक्ति के मूल्य या उत्कृष्टता के लिए भावना हैं। जीवन में ऐसी बहुत सारी चीजें है जिनको सम्मान देना आवश्यक है। अपने लिए सम्मान, दूसरों के लिए सम्मान और संपत्ति के लिए सम्मान आदि। सम्मान लोगो को हर जगह सिखाया जाता है। और इसे अपने धर्मों में भी सिखाया जाता है। सम्मान एक ऐसा पहलू है जिसका स्थान महत्वपूर्ण है। 

अपने लिए सम्मान एक व्यक्ति जीवन में महत्वपूर्ण है क्योंकि यह उसके जीवन का संतुलन कारक हो सकता है। यदि किसी व्यक्ति में अपने लिए कोई सम्मान नहीं तो इसकी सबसे अधिक संभावना अवसाद में चली जाएगी। अपने आत्मसम्मान के लिए खुद का सम्मान करना भी महत्वपूर्ण है। उच्च आत्मसम्मान होने से हमारी दूसरों के प्रति सम्मान की भावना भी प्रगाढ़ होगी।  हमारे बुजुर्गों  सम्मान होना आवश्यक है क्योंकि वे आपसे ज्यादा  जानते हैं और वे जानते हैं कि आपके लिए क्या अच्छा है और क्या नहीं। अपने साथियों सम्मान करना भी महत्त्वपूर्ण है। अपने साथियों का सम्मान करने का मतलब है कि उनसे मजाक नहीं करना, लड़ना नहीं और जब वे किसी चीज से परेशान होते हैं तो उनकी मदद करना। 

अंततः संपत्ति  सम्मान करने का मतलब कुछ ऐसा नहीं हैं जो आपका नहीं है। संपत्ति का सम्मान करना महत्वपूर्ण है क्योंकि यदि आप ऐसा नहीं करते है तो यह एक अपराध माना जा सकता है। लेकिन संपत्ति का सम्मान आपके सामान्य ज्ञान पर निर्भर है। एक जापानी संस्कृति है, जो हमें पर्यावरण का सम्मान करने की सीख देती है क्योंकि उनका मानना है कि पृथ्वी पवित्र है जैसे- पेड़, घास और जानवर।  आप खुद  पूछ सकते है कि 'संपत्ति के सम्बन्ध में इसका क्या सम्बन्ध है ?' पर्यावरण हमारे लिए अनमोल संपत्ति ही तो है।  आपके द्वारा उन चीजों को नुकसान नहीं पहुँचाना चाहिए जो आपकी नहीं है क्योंकि कोई भी वस्तु किसी किसी प्रकार से हमसे सम्बन्ध रखती है।    
Tarun Mishra , The Fabindia School, Bali 
Tma4fab@gmail.com
Post a Comment

Blog Archive

Search This Blog