Wednesday, July 22, 2020

मनोबल - राजेश्वरी राठौड़

मनोबल का अर्थ है हौसला। मनुष्य समाज में रहता है उसे जन्म से ही कार्य करने पड़ते हैं। वह शिक्षा हो या अन्य
कार्य, मनोबल सीधे कार्य निष्पादन को प्रभावित करता है। मनोबल  व्यक्ति की आंतरिक मानसिक शक्ति तथा आत्मविश्वास का पर्याय है। जिस प्रकार शरीर बल को बढ़ाने के लिए पौष्टिक भोजन और व्यायाम एवं विशेष उपचारों का सहारा लिया जाता है उसी प्रकार मनोबल के लिए भी ध्यान, धारणा यौगिक अभ्यास की  जरूरत होती हैं । जिन का मनोबल गिर गया वे साधारण  कामों को भी पर्वत के समान भारी मानते हैं ।

वह उत्साह और साहस ही है जिसके सहारे सामान्य लोग बड़े काम कर दिखाते हैं। जिन लोगों के पास मनोबल होता है वह कोई भी कार्य करने के लिए तत्पर होते हैं जैसे राणा सांगा को  80 गहरे घाव लगे थे तो भी वह लड़ाई के मैदान में पूर्ववत अपना जौहर दिखाते रहे ।वैसे ही विद्यार्थियों को अपना मनोबल नहीं खोना चाहिए। कोरोना जैसी महामारी के कारण   बच्चे   विद्यालय नहीं जा पा रहे हैं  । अब ऑनलाइन क्लासेस चल रही है उसमें मन लगाकर आत्मविश्वास और मनोबल को कायम रखते हुए पढ़ाई जारी रखनी चाहिए। कार्य के प्रति उमंग रखनी चाहिए। मनुष्य को मनोबल बढ़ाने के लिए  कई उपाय बताए गए हैं उनका अभ्यास करना चाहिए।

राजेश्वरी राठौड़
The Fabindia School
rre@fabindiaschools.in

No comments:

Popular posts