Saturday, April 10, 2021

Happiness and Tolerance - Smart Alphains

Happiness is difficult to describe in words. It only is felt happiness is essential for leading a good life. Still, unfortunately, it is missing from the lies of most people happiness is a sense of well-being joy of contentment when people are successful, so for lucky they feel happy happiness is something that comes from within and not from extra mile things happiness does not depend on what you have a who are you it depends on what you think happiness is something that begins and ends with your happiness is a way of life and not something that can be achieved and kept.

Money can buy food, luxury is a lifestyle and several things many most facilities. Still, money cannot buy happiness. If money can buy happiness, then rich people would be the happiest person on the earth.

Tolerance is essential for bringing happiness to our life. Trailblazer to a vital role in any relationship; we should increase our level of tolerance. It is important for learning something in daily life, it helps us improve the listening skills, tolerance is essential in our family life because it has to convert our angry nest, is always the most common cause of commercial discrimination, people with intolerance create obstacles to peace and prosperity in society and in the end, such persons can never be someone's true friend as they are very annoying. Working in the kitchen is how do we increase our tolerance; meditation is one of the effective ways to increase tolerance; always at all times person has society to move forward tolerance means the willingness to tolerate or accept somebody behaviour or open and even if you don't like to do so, but it does not mean week was or inability to face problem create by others tolerance is the best of humanity

खुशी और सहिष्णुता

खुशी मन की भावना है यह आनंद की एक अवस्था है इसे शब्दों द्वारा वक्त नहीं किया जा सकता है ।खुशी इंसान को कई छोटी-छोटी चीजों से भी प्राप्त हो जाती है उसे पाने के लिए हमें कुछ बड़ा करने की जरुरत नहीं होती है जरूरत है तो केवल हमें अपनी खुशी को व्यक्त करने की अनुभव करने की। मनुष्य को अपने जीवन में हमेशा खुश रहना चाहिए मनुष्य को हर छोटी छोटी वस्तुओं में खुशी तलाश करनी चाहिए। परंतु वह खुशी के बजाय उसमें गलतियां निकालते दुखी होता रहता है ।कुछ लोगों का मानना है कि खुशी केवल पैसों से ही खरीदी जा सकती है परंतु ऐसा नहीं है खुशी मन के भाव है जिसे अनुभव किए जा सकते हैं लोगों के सामने व्यक्त किया जा सकता है। हम लोगों के दुख दर्द बाट कर उनकी छोटी-छोटी मदद करके खुशियां प्राप्त कर सकते हैं।

हमारी जीवन में सहनशीलता का बहुत महत्व है। आज के समय को देखते हुए यदि हम देखें तो मनुष्य थोड़ी से दुख और परेशान ऐसे घबरा जाते हैं टूट जाते हैं। ऐसे में मनुष्य में सहिष्णुता का गुण होना आवश्यक है ।यह उसे दुख और परेशानियों में भी सहनशील होना सिखाता है। उदाहरण के लिए देखें तो महात्मा गांधी का सादगी भरा जीवन बहुत ही सहनशील था ,वह अपने प्रत्येक कार्य और व्यवहार में सहनशील रहते थे। आज हमें आवश्यकता इस बात की है कि हम सहनशील बने ताकि हमारे कर्म और व्यवहार से किसी को कोई कष्ट यह तकलीफ ना हो ।सहनशील व्यक्ति जीवन में सब कुछ हासिल करने की क्षमता रखता है। सहनशीलता व्यक्ति का एक विशेष गुण है।

Smart Alphains at Alpha Beta School Jaipur - Neerja Vajpeyee, Shalini Johri, Bharti Sharma' Surendra Sharma and R. K. Jain

No comments: